Eid Mubarak

Wishing everyone a wonderful Eid .. Let there be celebrations all over.. May God or Allah or whatever way one addresses almighty be kind upon his subjects..
I share a poem I had composed seven years ago and shared at brother Amitabh’s blog then and today..
Eid – – Poem by Abhaya Sharma
दुनिया के दुखों को मोड़ती
आज सुहानी ईद आई है
हम सब को सुखों से जोड़ती
आज रूहानी ईद आई है

मुसीबतों को छोड़ के पीछे
जहां में फिर ये ईद आई है
नसीहतों की याद दिलाती
जग में फिर ये ईद आई है

आज मिलो तुम गले सभी से
यह समझाती ईद आई है
खुदा से मिलने चलो आज
यह बतलाती फिर ईद आई है

है ईद मुबारक साथ लिये
कुछ नगमे और कुछ गीत लाई है
ये ईद आज कुछ याद दिलाती
बचपन के प्यारे मीत लाई है

आओ मनायें ईद कि मिल-जुल
ऎसी रीत चली आई है
चलो मना ले ईद कि हम-तुम
दिल में प्रीत नई छाई है

Abhaya Sharma
11 September 2010

Dedications : To the families of Pakistan who lost their near and dear ones in the Oil Tanker explosion.. May they get the strength to bear their losses.. To Adanan Asef.. who is undergoing cancer treatment at Tata Memorial Hospital.. To everyone who needs prayers for their well being in tough times.. May this festival of Eid fulfill the mankind with new hopes..

Abhaya Sharma Mumbai 26 June 2017